Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

सगाई रोक प्रेमी को बाइक से उठा ले गई प्रेमिका

beloved came and forced her lover not to tie with other girl

 

लखनऊ। ‘प्यार मुझसे और शादी किसी और से। ऐसा हो उससे पहले जेल की हवा खिला दूंगी।’ यह किसी फिल्म की सीन नहीं बल्कि आगरा के अछनेरा के एक गांव में कल पंचायत का दृश्य है। प्रेमिका के दूसरी जाति का होने के कारण प्रेमी के घरवाले ने उसकी कहीं और शादी तय कर दी। इस पर वहां पहुंची प्रेमिका ने पंचायत में एलान करके फिल्मी अंदाज में सगाई की रस्म रुकवा दी। इसके बाद दूल्हे को बाइक पर बैठाकर अपने साथ ले गई।

प्रेम की ये गजब कहानी गांव कचोरा की है। गांव का एक युवक मथुरा की दूसरी जाति की युवती के साथ वृंदावन स्थित अक्षयपात्र योजना में काम करता है। दोनों के बीच चार वर्ष से प्रेम संबंध थे। इस बीच युवती कई बार युवक के गांव भी आई। दोनों की जाति अलग होने के कारण युवक के परिवारवालों ने रिश्ता स्वीकार नहीं किया। पिछले दिनों युवक का रिश्ता कहीं और तय कर दिया।

युवक ने प्रेमिका को भी शादी का आमंत्रण भेजा। कल को सगाई की रस्म की तैयारी चल रही थी। घर पर रिश्तेदार और परिचित भी मौजूद थे। इसी बीच पिता और दो अन्य युवकों के साथ दो बाइकों पर आई प्रेमिका ने बखेड़ा खड़ा कर दिया। प्रेमिका का कहना था कि प्रेमी ने उसके साथ शादी करने का वादा किया था। उसने सगाई रोकने को कहा, परिवारवालों ने उसे समझाने का प्रयास किया लेकिन वह जिद पर अड़ी रही। आखिर मामले को लेकर अछनेरा के एक मंदिर पर दोनों पक्षों की पंचायत बैठी। प्रेमी के घरवालों ने प्रेमिका की जाति का हवाला देते हुए शादी करने से इन्कार कर दिया। उनका कहना था कि शादी के कार्ड बंट चुके हैं, शाम को सगाई की रस्म होनी है। तभी कड़े तेवर दिखाते हुए युवती धमकी भरे फिल्मी अंदाज में बोली कि प्यार मुझसे और शादी किसी और के साथ। तू किसी और का हो, इससे पहले जेल की हवा खिला दूंगी। प्रेमिका के यह कहते ही युवक साथ चल दिया। प्रेमी को अपने साथ बाइक पर बैठा कर साथ ले गई। पुलिस ने बताया कि मामले में फिलहाल कोई तहरीर नहीं दी गई है।

 

खून भी नहीं गिरा सका जाति की दीवार

प्रेमी के कुछ दिन पहले बीमार होने पर प्रेमिका ने खून दिया था। यह भी प्रेमी के परिवारवालों का मन नहीं बदल सका था। परिवारीजन जाति बंधन की वजह से विवाह के लिए तैयार नहीं थे। प्रेमिका ने अपना खून देने का भी हवाला दिया, लेकिन प्रेमी के परिजन जाति की दीवार को गिराने के लिए तैयार नहीं हुए।

Source : jagran.com

Posted by on Feb 11 2014. Filed under खबर. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts