Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

‘कूल डूड’ प्रजाति

cool dude

cool dude

मित्रो,
आज कल शहरों में एक नयी तरह की प्रजाति बहुतायत में पायी जाती है… जिसका नाम है ‘कूल डूड’ प्रजाति | पहले तो लड़के या लड़की में पहचान करना ही बहुत मुश्किल हो जाता हैं क्योंकि मर्दानगी की निशानी मानी जाने वाली मूछें इस प्रजाति से पूरी तरह गायब हो चुकी हैं | फिर भी इस प्रजाति की पहचान करना एकदम आसान हैं… बेतरतीब बिखरे बाल, सफाचट चेहरा या फिर ठुड्डी पर छोटी सी चाइना स्टाइल दाढ़ी, टी-शर्ट पर विदेशा झंडा या किसी अंग्रेजी रेसलर या रोकस्टार की फोटो, कूल्हे से नीचे लटकी पेंट, एक कान में बाली, गले या बाजू पर ऊल-जलूल टैटू आदि से कूल प्रजाति के लड़के की पहचान की जा सकती हैं | हालाँकि दाढ़ी को छोड़ कर ये सभी विशेष गुण लड़कियों में भी पाए जाते हैं… लेकिन कूल गर्ल की पहचान करना भी बहुत आसान हैं.. वो ऐसे कि इस प्रजाति की लड़कियों में पूरे कपडे न पहनने की एक विशेष बीमारी पायी जाती हैं… अर्ध-नंगा बदन मानो अमीरी या फॉरवर्ड होने की निशानी हो गयी हैं |

 

इस प्रजाति को अक्सर विदेशी जंक फ़ूड रेस्तरा और पब-डिस्को में पाया जाता है जहाँ ये बेढंगेपन से हैंग-आउट करते दिखाई देते हैं | भैय्या, हैंग-आउट का हिंदी में मतलब होता हैं बाहर-लटकना… अब वो कहाँ लटकते हैं ये तो वो ही जाने | वैसे बाहर लटकना चमगादड़ की प्रजाति का भी एक विशेष लक्षण हैं | एक विशेष श्रेणी की अंग्रेजी में गिटर-पिटर करते रहना इनका मुख्य लक्षण हैं…. इनकी अंग्रेजी से ज़्यादातर शब्द समझ से परे और अति-हास्यास्पद हैं जैसे कि: हे डूड वास-अप (जैसे पूछ रहें हो कि ऊपर क्या हैं), जस्ट हंग-ऑन-बड्डी (मानो किसी को लटकने के लिए कह रहें हो), यू रोक्स (मानो कह रहें हो कि तुम पत्थर हो), यू आर अ कूल गाय (मानो कह रहे हो कि तुम एक ठंडी गाय हो), हेया, यप्प, नोप . . . जैसे जाने कितने ही बेढंगे शब्द इनकी भाषा में पाए जाते है जिनका विश्व के किसी शब्दकोष में जिक्र नहीं होगा |

 

एक और विशेष गुण इस प्रजाति का यह है कि देश-दुनिया, धर्म-समाज, इतिहास-भूगोल, राजनीती-कूटनीति, संस्कृति-स्वाभिमान, व्यवहार-सदाचार, सद्कर्म-सदबुद्धि जैसे शब्दों से इनका कोई लेना देना नहीं हैं | ये प्रजाति खुद के लिए ही जीती है, देश क्या होता है? धर्म क्या होता है? हमारे देश का और हमारा इतिहास क्या हैं? हमारी संस्कृति क्या हैं ? जैसे सवालों से इनका कोई मतलब नहीं है | इन सवालों के जवाब इनसे पाना कोई अजूबा ही कहलाइए | यह प्रजाति विदेशी संस्कृति को सर्वोच्च मानती हैं और भारतीय संस्कृति को हेय दृष्टि से देखती हैं | ये प्रजाति अक्सर वी.टी.वी. एवं एम्.टी.वी. रोडीज़ जैसे कार्यक्रमों को बड़े चाव से देखती हैं | सही मायनों में भारतीय संस्कृति का मान भंग करने की जिम्मेदार यही प्रजाति है | साथ ही साथ गिरते जीवन मूल्यों और नैतिकता का क्षरण करने की जिम्मेदार भी यही प्रजाति हैं |

 

अब सवाल ये हैं कि इस प्रजाति का निर्माण किया किसने…? इस प्रजाति का निर्माण किया हैं शिक्षा के गिरते स्तर ने और गिरते नैतिक मूल्यों ने ! जिम्मेदार वो माँ-बाप भी हैं जो अपने बच्चो को समय नहीं दे पाते जिससे कि बच्चो को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाती | आजकल कितने माँ-बाप ऐसे है जो बच्चो को भारत की पुरातन संस्कृति और स्वाभिमान की शिक्षा देते हैं…??? शायद बहुत ही कम |

 

मेरी आप सभी से यही प्रार्थना है कि आप अपने बच्चे को ‘कूल-डूड’ न बनाये, अगर बनाना ही है तो अपने देश और धर्म से प्रेम करने वाला अच्छा इंसान बनाये | अब इसे मेरा सौभाग्य कहो या मेरा ग्रामीण परिवेश की मिडल क्लास फॅमिली से सम्बन्ध रखना… पर मुझे गर्व हैं कि मैं कूल डूड नहीं हूँ…!!!

(नोट: कोई कूल डूड अगर इसे पढ़ रहा हो तो कृपया इसे दिल पर न लें और बात को समझने की कोशिश करें… क्योंकि मस्ती करने के अलावा देश और धर्म की जानकारी रखना भी आपकी जिम्मेदारी बनती हैं)

लेखक  : प्रशांत गुर्जर

Source : navbharattimes.indiatimes.com

Short URL: http://jayhind.co.in/?p=2448

Posted by on Jul 17 2013. Filed under मेरी बात. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

3 Comments for “‘कूल डूड’ प्रजाति”

  1. jagmohan singh rawat

    i am agree with your thought published as post and hate this type of uncultured happening

  2. I hate these type of people who doesn’t have any thoughts and responsibility toward our country. parents should teach moral values to their children

  3. dee

    let them live there life. as long as they are following law, and not harming anyone, they are good.

Leave a Reply

*

Recent Posts

Photo Gallery