Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

WHATS APP: जानिए इसकी SUCCESS का राज, कैसे होती है कमाई

Know About The Whatsapp And The Revenue Model Of This 2

 

 

फेसबुक के द्वारा वाट्सऐप को खरीदे जाने की घोषणा की जा चुकी है। इस डील की कीमत लगभग 1182 अरब रुपए रखी गई है। ब्रियान एक्टन (Brian Acton) और जैन कॉम (Jan Koum) ने वाट्स एप को बनाया था। आज के समय में वाट्सऐप बहुत तेजी से भारतीय युवाओं के बीच लोकप्रिय हो रहा है। 2013 के आंकड़ों के हिसाब से वाट्सऐप के माध्यम से हर रोज 20 अरब से भी अधिक मैसेज किए जाते हैं।

यह संख्या हर रोज बढ़ती ही जा रही है, क्योंकि स्मार्टफोन की संख्या भी हर रोज बढ़ रही है। भारत जैसे देश में, जहां बहुत सारे लोग हाई-इंटरनेट स्पीड की कीमत नहीं चुका सकते हैं, उनके लिए वाट्सऐप बहुत ही काम की चीज है। वाट्सऐप के माध्यम से लोग एक दूसरे को ना सिर्फ मैसेज भेज सकते हैं, बल्कि इससे फोटो, वीडियो और साउंड फाइल भी भेजी जा सकती हैं।

कैसे हों रजिस्टर

वाट्सऐप के माध्यम से इंटरनेट का इस्तेमाल करते हुए मैसेज भेजे जाते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ अपने फोन में वाट्सऐप इंस्टॉल करना होता है और अपने फोन नंबर के द्वारा खुद को रजिस्टर करना होता है। इस प्रक्रिया में सिर्फ 5-10 मिनट का समय लगता है।

कैसे होती है वाट्स ऐप की कमाई?-

आईफोन यूजर्स से वसूलते हैं 62 रुपए

वाट्स ऐप आईफोन यूजर्स से एक बार इंस्टॉल करने के लिए लगभग 62 रुपए की फीस लेता है। अन्य फोन इस्तेमाल करने वाले लोगों के लिए पहले एक साल तक वाट्सऐप फ्री है लेकिन एक साल खत्म होने के बाद उसे भी 62 रुपए सालाना फीस देनी होगी।

नहीं करते हैं एडवर्टाइजिंग

ब्रियान एक्टन (Brian Acton) और जैन कॉम (Jan Koum) दोनों ही एडवर्टाइजिंग से नफरत करते हैं, इसलिए कभी वाट्स एप का एडवर्टाइज नहीं किया। इस तरह से कंपनी का एडवर्टाइजिंग पर भी कोई खर्चा नहीं होता है। फिलहाल वाट्स एप के दुनिया भर में करीब 450 मिलियन यूजर्स हैं। साथ ही, हर रोज लाखों की संख्या में लोग वाट्स एप से जुड़ रहे हैं।

Whatsapp

क्यों हुआ सफल

कई प्लेटफॉर्म पर करता है काम

वाट्स ऐप कई सारे प्लेटफॉर्म को सपोर्ट करता है। एंड्रॉयड, सिंबियन, Ios और विंडोज फोन OS के साथ वाट्स ऐप आसानी से काम करता है।

नहीं लगती कोई फीस/चार्ज

इसके सफल होने का एक कारण यह भी है कि यह फ्री है। इसे इस्तेमाल करने के लिए कोई भी चार्ज नहीं देना पड़ता है। हालांकि, बहुत सारे अन्य ऐप भी हैं जो यह सारी सुविधाएं देते हैं लेकिन चलाने में आसान और फ्री होने के चलते वाट्स ऐप ने एक बड़ी लोकप्रियता हासिल कर ली है।

विज्ञापन भी नहीं आते इसमें

इसकी सफलता के पीछे एक और खास बात है कि इसमें किसी भी प्रकार का विज्ञापन नहीं दिया जाता है।

 

कैसे करता है काम

यह ऐप आपके फोन में मौजूद अन्य फोन नंबरों को भी स्कैन करता है, और फिर उनमें से जो भी वाट्सऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हें आपके वाट्सऐप की कॉन्टेक्ट लिस्ट में जोड़ देता है। इसमें हर किसी को एक-एक करके जोड़ने की जरूरत नहीं पड़ती है। जैसे ही कोई व्यक्ति अपने फोन में वाट्सएप इंस्टॉल करता है, वैसे ही वाट्सऐप सबके साथ चैटिंग करने के लिए रेडी हो जाता है।

फोटो, वीडियो और ऑडियो फाइलें भी की जा सकती हैं शेयर

इसके माध्यम से फोटो, वीडियो और ऑडियो फाइलें भी भेजी जा सकती हैं। हालांकि, यह सुविधा प्लैश मैसेज और MMS के जरिए पहले भी दी जाती थी, लेकिन वाट्स ऐप ने इसे सस्ता और आसान बना दिया।

ग्रुप चैटिंग

इसकी सहायता से ग्रुप में भी चैटिंग की जा सकती है जो एक फोन के जरिए मैसेजिंग से मुमकिन नहीं है। यह ऐप आपको हमेशा लॉगिन भी रखता है। भले ही आप फोन से दूर हों, लेकिन आपको मैसेज आ जाता है।

ईमेल आईडी की जरूरत नहीं

इसके लिए किसी प्रकार की ईमेल आईडी या फिर प्रोफाइल की जरूरत नहीं होती है। जैसे ही दो लोगों के पास यह ऐप इंस्टॉल हो जाता है, वे आपस में बात कर सकते हैं।

Whatsapp 1

वाट्सऐप इस्तेमाल करने के फायदे-

=> यदि पैसों के आधार पर देखा जाए, तो वाट्स ऐप रेगुलर मैसेज से कम महंगा है। इसके लिए आपको लगभग 150 रुपए का कोई इंटरनेट डेटा प्लान लेना होता है। इसमें मैसेज भेजने में सिर्फ इंटरनेट डेटा खर्च होता है, मैसेज भेजने का अगल से कोई चार्ज नहीं लिया जाता।

=> व्यक्ति कहीं पर भी हो, डेटा चार्ज भी समान होता है। रेगुलर मैसेज (SMS) की तरह नेशनल मैसेज का चार्ज अलग और इंटरनेशनल मैसेज का चार्ज अलग नहीं लगता।

=> यहां तक कि अगर रोमिंग में आप पर कोई अतिरिक्त डेटाचार्ज नहीं लगता है, तो आप आराम से मैसेज कर सकते हैं। वाट्स ऐप में रेगुलर मैसेज की तरह कोई रोमिंग चार्ज भी नहीं लगता है।

=> रेगुलर मैसेज भेजने में आप सिर्फ 100 मैसेज प्रतिदिन कर सकते हैं जबकि वाट्स ऐप में ऐसी कोई लिमिट नहीं होती है।

News Source : business bhaskar

Posted by on Feb 20 2014. Filed under खबर. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts