Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

प्राइवेट कंपनी के डायरेक्टर ने केबिन में बुलाकर मैनेजर से किया रेप

MNC Director Accused Of Rape

MNC Director Accused Of Rape

 

गुड़गांव. दिल्ली-एनसीआर में महिलाओं की सुरक्षा पर एक बार फिर बड़ा सवाल उठा है। गुड़गांव की एक नामी कंपनी की 32 साल की महिला मैनेजर ने अपने ही दफ्तर के एक डायरेक्टर पर रेप का आरोप लगाया है। पीड़ित ने अपनी शिकायत में कहा है कि डायरेक्टर उसे अपनी केबिन में बुला लेते थे और ऐसी हरकतें करते थे जिन्हें नए कानून के मुताबिक रेप माना जाता है। महिला ने दो अन्य सीनियर साथियों पर केबिन में बुलाकर पॉर्न कंटेंट दिखाने और उसके साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। पीड़ित महिला ने दिल्ली के आर.के.पुरम थाने में इसकी शिकायत दी। पुलिस ने वहां जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला गुड़गांव पुलिस के पास भेज दिया है। गुड़गांव पुलिस ने मामला सुशांत लोक थाने में भेजकर आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया है। गुड़गांव पुलिस ने एचआर डिपार्टमेंट के अफसर समेत 7 लोगों के खिलाफ छेड़छाड़ व रेप का मामला दर्ज किया है। आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। उन पर आरोपियों का साथ देने का आरोप है।
गाजियाबाद की रहने वाली पीड़ित महिला नोएडा स्थित नामी कंपनी में मैनेजर है। वह इस कंपनी की गुड़गांव यूनिट में भी काम कर चुकी हैं। पीड़ित महिला का आरोप है कि उसे गुड़गांव के गोल्फ कोर्स रोड स्थित ऑफिस में बहाने से बुलाया गया था। यहां एचआर डिपार्टमेंट के 5 अफसरों ने पहले उससे छेड़छाड़ की, फिर रेप किया। आरोपियों में राहुल सिंह, पवन भल्ला, रजत तिवारी, पूजा खन्ना, नितिन, वर्षा सिंह, गैरी जोसेफ शामिल हैं। ये सभी कंपनी की गुड़गांव, नोएडा और गाजियाबाद में मौजूद ब्रांच में काम करते हैं।
सुशांत लोक थाना प्रभारी गौरव फौगाट ने बताया कि पुलिस ने महिला मैनेजर की शिकायत पर उसकी कंपनी के ही एचआर हेड सहित पांच लोगों पर धारा 354, 376/34 के तहत रेप व छेड़छाड़ का केस दर्ज किया है। इनके अलावा दो महिलाओं पर मामले में शामिल होने का आरोप है। मामले की जांच कर रहे एएसआई विजय कुमार ने बताया कि वारदात कब हुई, इसका जिक्र जीरो एफआईआर में नहीं है। आरोपियों के पद भी शिकायत में नहीं लिखे हैं। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
गुड़गांव के पुलिस कमिश्नर आलोक मित्तल के मुताबिक, ‘हमें दिल्ली पुलिस से एक एफआईआर मिली है और जांच चल रही है। कॉल सेंटर की ओर से भी शिकायत दर्ज कराई गई है। शिकायत में इस बात की आशंका जताई गई है कि महिला साजिश रच रही है। हमने एफआईआर दर्ज कर ली है, लेकिन तस्वीर जांच के बाद ही साफ हो पाएगी।’
इस मामले में कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा है,’ महिला कर्मचारी को पिछले साल 3 दिसंबर को टर्मिनेट कर दिया गया था। इसके बाद उन्होंने 7 दिसंबर को कंपनी के सीनियर अफसरों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। हम मानते हैं कि टर्मिनेशन की वजह से उन्होंने ऐसा कदम उठाया है।’
Posted by on Jan 7 2014. Filed under आधी आबादी, खबर. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts