Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

नवरात्र घट स्थापना करने के लिए शुभ मुहूर्त और स्थापना विधि

1376445_10151732459898843_1670568928_n

शक्ति की देवी मां दुर्गा का नौ दिनों तक चलने वाला पूजन शनिवार, पांच अक्टूबर से शुरू हो रहा। नवरात्रि के इस पूजन के लिए कौन सा समय शुभ है, किस समय में घट स्थापना करना सही है और पूजा विधि क्या हो, आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

हिंदू परिवारों में नवरात्रे के पहले दिन घट स्थापना की जाती है जिसमें ज्वार अर्थात जौ अर्थात खेत्री बीजी जाती है। जौ जीवन में सुख और शांति का प्रतीक होते हैं क्योंकि देवियों के नौ रूपों में एक मां अन्नपूर्णा का रूप भी होता है। जौ की खेत्री का हरा-भरा होना इस बात का प्रतीक है कि इसी तरह जीवन भी हरा-भरा रहेगा और साथ ही देवी की कृपा भी बनी रहेगी।

घट स्थापना सुबह ही करें और इसका स्थापना हमेशा शुभ मुहूर्त में ही करें। इस वर्ष शारदीय नवरात्र में घट स्थापना का शुभ समय 8:05 मिनट से सुबह 9 बजे तक रहेगा। इसके बाद राहुकाल शुरू हो जाएगा जो 10 बजकर तीस मीनट तक रहेगा। इसलिए इस दौरान कलश स्थपन कार्य नहीं किया जा सकता। जो लोग 9 बजे तक घट स्थापन नहीं कर पाते हैं वह 12 बजकर 3 मिनट से 12 बजकर 50 मिनट तक अभिजित मुहूर्त में घट बैठा सकते हैं।

सर्वप्रथम स्नान कर गाय के गोबर से पूजा स्थल का लेपन करें। घट स्थापना के लिए एक अलग चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं तथा इस पर अक्षत से अष्टदल बना कर एक बर्तन में जौ बीजें तथा इसके बीच में अपनी इच्छानुसार मिट्टी, तांबे, चांदी या सोने का जल से भरा कलश स्थापित करें।

बीजे हुए जौ को आम या आक के पत्तों से ऊपर से ढक दें। जब जौ अंकुरित हो कर बाहर निकलने शुरू हों तो इन पत्तों को हटा दें। यदि पूर्ण विधिपूर्वक घट स्थापना करनी हो तो पंचांग पूजन (गणेश-अंबिका, वरुण, षोडशमातृका, सप्तघृतमातृका, नवग्रह आदि देवों का पूजन) तथा पुण्याहवाचन (मंत्रोच्चार) ब्राह्मण द्वारा कराएं अथवा स्वयं करें।

इसके बाद देवी की मूर्ति स्थापित करें तथा उसका षोडशोपचार पूर्वक पूजन करें। इसके बाद श्री दुर्गा सप्तशती का संपुट अथवा साधारण पाठ करें। पाठ की पूर्णाहुति के दिन दशांश हवन अथवा दशांश पाठ करना चाहिए। नवरात्रे के आखिरी दिन कन्या पूजन के बाद जौ के पात्र का विसर्जन करें।

घट स्थापना- घट स्थापना का समय 05 अक्टूबर 2013, शनिवार को अश्रि्वन शुक्ल प्रतिपदा के दिन प्रात:काल 08 बजकर 05 मिनट से 09 बजे तक रहेगा। इसके पश्चात दोपहर 12 बजकर 03 मिनट से दोपहर 12 बजकर 50 मिनट तक के मध्य में भी घट स्थापना की जा सकती है।

1. पहला नवरात्र- प्रथमा तिथि, 5 अक्टूबर 2013, दिन शनिवार, 3:35 तक।

2. दूसरा नवरात्र- द्वितीया तिथि, 6 अक्टूबर 2013 दिन रविवार, 3:17 तक।

3. तीसरा नवरात्र- तृतीया तिथि, 7 अक्टूबर 2013, दिन सोमवार, 1:58 तक।

4. चौथा नवरात्र- चतुर्थी तिथि, 8 अक्टूबर 2013 , मंगलवार, 12:05 तक।

5. पांचवां नवरात्र- पंचमी तिथि, 9 अक्टूबर 2013, बुधवार, 10:01 तक।

6. छठा नवरात्र- षष्ठी तिथि, 10 अक्टूबर 2013, गुरुवार, 07:51 तक।

7. सातवां नवरात्र- सप्तमी तिथि, 11 अक्टूबर 2013, शुक्रवार, 05:39 तक।

8. आठवां नवरात्र, अष्टमी तिथि, 12 अक्टूबर 2013, शनिवार, 03:27 तक।

9. नौवां नवरात्र- नवमी तिथि, 13 अक्टूबर 2013, रविवार, 01:18 तक।

10. दशहरा- दशमी तिथि, 13 अक्टूबर 2013, रविवार, 01:18 से आरंभ और 14 अक्टूबर को प्रात:काल 11:16 तक

देवी की अराधना इंस मंत्र से करें-

देवी आराधना मंत्र –

. शैलपुत्री- वन्दे वांछित लाभाय चन्द्रा‌र्द्वकृतशेखराम्। वृषारूढ़ा शूलधरां यशस्विनीम्॥

2. ब्रह्मचारिणी- दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू। देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा॥

3. चंद्रघंटा- पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकेर्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता॥

4. कूष्माण्डा- सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च। दधाना हस्तपद्माभ्यां कुष्मांडा शुभदास्तु मे।

5. स्कंदमाता- सिंहसनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कंदमाता यशस्विनी॥

6. कात्यायनी- चज्जद्रहासो“वलकरा शार्दूलवरवाहना। कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी॥

7. कालरात्रि- एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता। लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी॥ वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा। वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी॥

8. महागौरी- श्वेते वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बरधरा शुचि:। महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोदया॥

9. सिद्धिदा˜“ी- आप“िसद्धगन्धर्वयक्षाघरसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी

Posted by on Oct 5 2013. Filed under हिन्दुत्व. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts