Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

52 गांवों ने लिया संकल्प, न दहेज लेंगे न दहेज देंगे

no dowry

no dowry

समाज के लिए अभिशाप बन चुकी दहेज प्रथा का अपने समाज से बहिष्कार कर यादव समाज ने दूसरों को नई राह दिखाई है।

52 गांव के यादवों ने दहेज प्रथा के विरोध में महापंचायत कर शपथ ली कि वह शादियों में ना तो दहेज लेंगे ना दहेज देंगे।

ऊं साईं राम फार्म में यदुवंश उत्थान समिति की ओर से आयोजित इस महापंचायत में गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, हापुड़ के करीब 52 गांवों के यादव प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

वक्ताओं ने कहा कि दहेज प्रथा समाज की सबसे बड़ी बुराई बनती जा रही है इसकी वजह से सैकड़ों घर बर्बाद हुए हैं। इसलिए समाज से इस बुराई को समूल नष्ट करना होगा।

जब तक पुरजोर तरीके से इस बुराई के खिलाफ आवाज नहीं उठाई जाएगी और समाज के युवा दहेज ना लेने का संकल्प नहीं लेंगे तब तक समाज से इसे समाप्त नहीं किया जा सकता है।

दहेज प्रथा के खिलाफ बम्हैटा में पिछले कई महीनों से पंचायत और अभियान चलाया जा रहा था।

महापंचायत में शामिल सभी सदस्यों ने सामूहिक संकल्प लिया कि वह अपने बच्चों की शादियों में ना तो दहेज लेंगे ना ही दहेज देंगे।

इसके साथ ही शादियों में फिजूलखर्ची से भी बचेंगे। भीष्म सिंह ने बताया कि इसके लिए महीनों पहले से सभी गांवों में जनजागरण भी किया गया था।

पंचायत में सपा नेता जितेंद्र यादव, सिकंदर यादव, बिजेंद्र यादव, भाजपा नेता सुरेश यादव, जयवीर सिंह यादव, वीरपाल यादव, विजय यादव, विनोद यादव, लाला यादव, बल्लू प्रधान मौजूद रहे।

Source : http://www.amarujala.com

Short URL: http://jayhind.co.in/?p=1960

Posted by on Apr 25 2013. Filed under खबर. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts

Photo Gallery