Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

हौसले ने नहीं रुकने दिए कदम, सियाचिन ग्लेशियर पर पहुंच फहराया तिरंगा

Siachen Glacier Kodan ArrivedSiachen Glacier Kodan Arrived

Siachen Glacier Kodan Arrived

पिंजौर. 25 सितंबर से शुरू हुए सियाचिन ग्लेशियर-2013 अभियान का 24 अक्टूबर को समापन हो गया। अभियान की शुरुआत लेफ्टिनेंट जनरल आरके शर्मा ने झंडी दिखाकर 14 कोर कमांड लेह की ओर रवाना किया था। अभियान में भारतीय जवानों के साथ देश के 10 पर्वतारोही थे। इन्हीं में से पिंजौर के वन विभाग हरियाणा वन मंडल अधिकारी, अनुसंधान मंडल कार्यालय में कार्यरत पर्वतारोही संजय कोडान थे। कोडान का चयन सियाचिन ग्लेशियर-2013 के लिए जाने वाली टीम में चयन में हुआ था। यह अभियान 24 अक्टूबर को लेह पहुंची, जहां फ्लैग ऑफ का कार्य का समापन हुआ।

इस अभियान में आर्मी के 13 जवानों के साथ 10 पर्वतारोहियों ने लेह से 18 अक्टूबर को भारतीय कुमार पोस्ट (जगह) पर पहुंचे और तिरंगा लहराया। कोडान हरियाणा प्रदेश का प्रथम पर्वतारोही हैं, जिसने भारतीय सेना के साथ सियाचिन ग्लेशियर के उस क्षेत्र का दौरा किया, जहां भारतीय सेना 40 डिग्री सेल्सियस तापमान में 21,000 फीट की ऊंचाई पर देश की रक्षा के लिए अडिग खड़ी है। कोडान ने एशिया, यूरोप महाद्वीप की अनेक चोटियों पर तिरंगा लहराया है। कोडान ने बताया कि इन अभियानों में उनके प्रधान मुख्य वन सरंक्षक, हरियाणा सीआर जोतरीवाल का विशेष योगदान रहा है। कोडान ने वन मंडल अधिकारी परमजीत सागंवान का भी आभार प्रकट किया।

संजय कोडान ने माउंट स्टोपंथ (7075 मीटर), माउंट स्टोक कांगरी (6200 मीटर), माउंट एवरेस्ट बेस कैंप (5335 मीटर), इसलैंड पीक (6189 मीटर), कालापत्थर (6053 मीटर), माउंट एवरेस्ट (8848 मीटर), माउंट एलबर्स (5642 मीटर) हाईएस्ट पीक ऑफ यूरोप कोंटीनेंट सबमिट की है।

कोडान ने बताया कि गत एक माह जो उन्होंने भारतीय सेना के साथ बिताया है। आज सेवा के जज्बे, अनुशासन, कठोर परिश्रम की वजह से ही इस देश के सभी लोग खुली हवा में सांस ले रहे हैं। भारतीय सेना का अनुशासन अद्वितीय है। जिस सियाचिन ग्लेसियर में प्रतिवर्ष अनके भारतीय सैनिक दुश्मन के साथ लड़ाई में नहीं अपितु मौसम संबन्धित कारणों से देश की रक्षा करते हुए शहीद हो जाते हैं।

Source : bhaskar.com

Posted by on Oct 30 2013. Filed under खबर. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts