Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

‘जाँबाज़ सितारों’ की असलियत हैं ये स्टंटबाज़

फिल्मी सेट पर सनोबार पाटरिवाला शूटिंग की तैयारी में

सनोबर कटरीना कैफ़, करीना कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन जैसे कलाकारों के लिए स्टंट कर चुकी हैं

सनोबार पाटरिवाला हंसते-हंसते ख़तरनाक स्टंट कर जाती हैं

मुंबई के उपनगर अँधेरी में एक ऊंची अधूरी इमारत से एक पतली लड़की नीचे छलांग लगाती है लेकिन उसे खरोंच भी नहीं आती.

देखने में फिट और स्वस्थ. रंगरूप और लटके-झटके अभिनेत्रियों से कम नहीं. इनका पेशा है स्टंट करना.

मिलिए 26 साल की सनोबर पाटरिवाला से. ये मुंबई की फिल्म नगरी की गिनी-चुनी महिला स्टंट आर्टिस्टों में से एक हैं.

सनोबार पाटरिवाला हंसते-हंसते ख़तरनाक स्टंट कर जाती हैं

सनोबार पाटरिवाला हंसते-हंसते ख़तरनाक स्टंट कर जाती हैं

पिछले दिनों मैं सुभाष घई की एक फिल्म के सेट पर गया जहाँ मैंने पहली बार सनोबर का चमत्कार देखा. हालांकि मुझे छलांग लगाने की तस्वीरें लेने से मना कर दिया गया, लेकिन मैं सनोबर की दिलेरी से काफी प्रभावित हुआ.

 

करीना, कटरीना के लिए भी स्टंट

शॉट देने के बाद वो जब सामने आईं तो मैं ने पूछा आपको डर नहीं लगता? उन्होंने बड़े आराम से मुस्कुराते हुए कहा, “हम अब इस तरह के स्टंट के आदी हो चुके हैं.”

सनोबर अपने लम्बे करियर में लगभग सभी अभिनेत्रियों का स्टंट सीक्वेंस कर चुकी हैं. “आप किसी का भी नाम लो मैंने उनके लिए काम किया है. ऐश्वर्या राय बच्चन, करीना कपूर, कटरीना कैफ, सभी के लिए.”

सनोबर कटरीना कैफ़, करीना कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन जैसे कलाकारों के लिए स्टंट कर चुकी हैं

अगर ‘धूम- 2’ में आपने ऐश को एक्शन करते देखा है तो वो असल में ऐश नहीं थीं बल्कि उनकी जगह सनोबर ने ऐश बन कर सारा एक्शन किया था. “होता ये है कि हीरोइन को ख़तरनाक एक्शन में जब दिखाया जाता है तो उनकी जगह पर मैं होती हूँ. वो दूर से दिखाया जाता है. लोग ये समझते हैं कि वो हीरोइन है. लेकिन हाँ, नज़दीक के शॉट्स हीरोइन के ही होते हैं. निर्देशक हीरोइन से ख़तरनाक काम नहीं कराते. वो हम ही करते हैं.”

जोखिम में जान

एक तरह से स्टंट की कला में जोखिम अधिक है, लेकिन नाम होता है हीरोइनों का. तो क्या सनोबर को इस गुमनामी की ज़िन्दगी खलती नहीं? “बिलकुल नहीं. वो अपना काम करती हैं और मैं अपना. दर्शक भले ही हमें न जानते हों. बॉलीवुड से जुड़े लोगों को मेरे बारे में मालूम है.”

सनोबर कटरीना कैफ़, करीना कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन जैसे कलाकारों के लिए स्टंट कर चुकी हैं

सनोबर कटरीना कैफ़, करीना कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन जैसे कलाकारों के लिए स्टंट कर चुकी हैं

सनोबर 14 साल की उम्र से बॉलीवुड में पेशेवर स्टंट का काम कर रही हैं. “मैं जब नौ साल की थी मेरे पिता गुज़र गए. शुरू में मां ने मना किया लेकिन जब उन्होंने देखा मैं नाम कमा रही हूँ तो मुझ पर गर्व करने लगीं.”

बॉलीवुड में स्टंट का काम मर्दों की दुनिया है. “शुरू में मर्द आर्टिस्ट समझते थे मैं ये काम नहीं कर सकती लेकिन अब वो मेरी इज्ज़त करते हैं.”

सनोबर कहती हैं वो 12 साल की उम्र में जूडो में ब्लैक बेल्ट ले चुकी थीं. वो तैराकी और व्यायाम में अपने स्कूल में नाम कमा चुकी थीं. लेकिन आखिर उन्होंने इस जोखिम भरे पेशे में आने का फैसला कैसे लिया?

“शुरू में मर्द आर्टिस्ट समझते थे मैं ये काम नहीं कर सकती लेकिन अब वो मेरी इज्ज़त करते हैं.”

सनोबर पाटरिवाला, महिला स्टंट कलाकार

“मैं जब 14 साल की थी तो मैं ने एक विज्ञापन में ऐश्वर्या का स्टंट एक्शन किया जिसके मुझे 10,000 रुपये मिले. मैंने सोचा जो काम मेरे लिए बाएं हाथ का खेल है उसके इतने पैसे मिलते हैं तो ये पेशा काफी अच्छा है. उस समय एक महिला को 5,000 रुपये महीने के मिलते थे. इस तरह मैंने स्टंट करने का फ़ैसला कर लिया.”

सब करते हैं इज्जत

फिल्मी सेट पर सनोबर को सभी जानते हैं. वहाँ मैं जितनी देर रहा सबको मैंने उनसे इज्ज़त से पेश आते देखा. एक ने कहा, “मैं इनके साथ कई फिल्मों में काम कर चुका हूँ. इनका स्टंट मर्दों से बेहतर है.”

फिल्मी सेट पर सनोबार पाटरिवाला शूटिंग की तैयारी में

फिल्मी सेट पर सनोबार पाटरिवाला शूटिंग की तैयारी में

सनोबर का कहना है कि उनके आने से इस पेशे में स्टंट कलाकारों की काम के समय सुरक्षा का इंतज़ाम बेहतर हो गया है. “पहले निर्माता या निर्देशक कहते थे आप स्टंट आर्टिस्ट हो, आप का काम जोखिम भरा है. आपको करना है तो करो वरना जाओ. लेकिन मैं ने हमेशा सबकी सुरक्षा पर जोर दिया और आज सभी आर्टिस्ट इसका फायदा उठा रहे हैं.”

दरअसल लम्बी छलांग हो, या तेज़ रफ़्तार से चलती गाड़ी से कूदना ये सारा एक्शन स्टंट आर्टिस्टों के कमर में मोटी रस्सी बाँध कर, सर पर हेलमेट लगाकर किया जाता है और उसका कंट्रोल ज़मीन पर एक पूरी टीम के हाथों में होता है.”

सनोबर महिलाओं को सलाह देते हुए कहती हैं कि वो हर वो काम कर सकती हैं जो मर्द कर सकते हैं. “मैं इसकी जीती-जागती मिसाल हूँ.”

Source : bbc.com

Short URL: http://jayhind.co.in/?p=1801

Posted by on Apr 5 2013. Filed under आधी आबादी. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts

Photo Gallery