Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

24 साल की उम्र में बनी सीईओ, वेब मार्केटिंग की दुनिया में रचा इतिहास

Shama Kabani 2

 

हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसी महिला के बारे में, जिसने महज 28 साल की उम्र में रच दिया है इतिहास। वेब मार्केटिंग की दुनिया में ये चेहरा काफी मशहूर है। 2006 में, जब ट्विटर पर महज 2000 यूजर हुआ करते थे। तब ये छात्रा यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास में अपने पढ़ाई के दौरान ट्विटर पर अपनी थीसिस लिखा करती थी। क्योकिं सोशल मीडिया की समझ इसके पास आम लोगों से काफी ज्यादा है। वेब मार्केटिंग की दुनिया में इस युवती ने कम समय में बहुत बड़े काम किए हैं।

हम आपको बताने जा रहे हैं भारतीय मूल की ‘शमा कबानी’ की सक्सेस स्टोरी, जो 28 साल की उम्र में ही बन गई है एक मशहूर कंपनी की सीईओ। इसके साथ ही इन्होंने लिखी है एक मशहूर किताब, जिसकी ब्रिकी ने तोड़ दिया है रिकॉर्ड।

शमा कबानी ‘द मार्केटिंग जेन ग्रुप’ की संस्थापक और सीईओ हैं। इसके साथ वेब मार्केटिंग की मशहूर किताब ‘द जेन ऑफ सोशल मीडिया मार्केटिंग’ की लेखक भी हैं। इस किताब ने एमेजन डॉट कॉम पर तीसरी सबसे ज्यादा बिकने वाली किताब का रिकॉर्ड भी हाशिल किया है।

शमा का जन्म 25 अप्रेल 1985 में गोवा में हुआ था। 9 साल की उम्र तक इन्होंने बैंगलोर में पढ़ई की थी फिर अपने माता-पिता के साथ अमेरिका में शिफ्ट हो गईं।

अमेरिका में अपनी पढ़ाई के दौरान 2008 में, शमा ने यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास से Organizational Communication में मास्टर्स की डिग्री हाशिल की।

अपनी पढ़ाई के बाद 2009 में, शमा ने ‘क्लिक टू क्लाइंट’ नामक एक ग्लोबल मार्केटिंग एजेंसी की शुरुआत की, जिसे अब ‘द मार्केटिंग जेन ग्रुप’ के नाम से जाना जाता है।

शमा ने इस कंपनी की शुरुआत सिर्फ 1500 डॉलर (लगभग 92,000 रुपए) में की थी। शुरुआती एक साल के अंदर ही शमा ने इस कंपनी के जरिए लाखों रुपए कमा लिए।

आज के समय, इस कंपनी के पास लगभग सैकड़ों क्लाइंट हैं, जो यहां से सोशल मीडिया मार्केटिंग, सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन, सोशल एनालिटिक्स और वेब विकास जैसी सेवाएं ग्रहण करते हैं। 2010 में शमा की किताब ‘द जेन ऑफ सोशल मीडिया मार्केटिंग’ प्रकाशित हुई थी।
शमा को उनके काम के लिए कई पुरस्कार भी मिले हैं, उनमें से सबसे बड़ा पुरस्कार यह है-
2009 में उनका नाम 25 साल से कम उम्र के टॉप 25 व्यवसायी में शामिल हुआ था। इस वजह से उन्हें ‘टेक टाइटन अवार्ड’ से नवाजा गया था।

शमा को कई बड़ी पत्रिकाओं में भी लिखने का मौका मिलता रहता है- बिजनेस वीक, वाल स्ट्रीट जर्नल, न्यूयॉर्क टाइम्स।

शमा एक सोशल मीडिया वीडियो ब्लॉग ‘शमा टीवी’ भी चलाती हैं।

शमा कई बार सीबीएस, फॉक्स समाचार, सी डब्ल्यू 33, गुड मॉर्निंग टेक्सास, और एमएसएनबीसी जैसे बड़े न्यूज चैनलों पर नजर भी आ चुकी हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक शमा की कंपनी में सिर्फ 27 लोग काम करते हैं और ये लोग हर महीनें लगभग 25 प्रोजेक्ट्स पर काम करते हैं।

इस कंपनी में एक न्यूज लैटर बनाने की फीस अधिकतम 2,500 डॉलर (लगभग 1.5 लाख रुपए) तक होती है। किसी अन्य प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए इस कंपनी की हर महीनें की शुरुआती फीस 2,500 डॉलर से शुरु होती है।

शमा के मुताबिक, 2008 में इस कंपनी की रेवेन्यू लगभग 74 लाख रुपए थी।
2009 में 1.73 करोड़ रुपए
2010 में 6.20 करोड़ रुपए

शमा ने अर्शिल कबानी से शादी की है, जो उनके ही कंपनी में काम करते हैं। शमा अपने परिवार के साथ डलास, टेक्सास में रहती हैं। उनके पति लॉ स्टूडेंट थे और अब शमा के साथ ही ‘द मार्केटिंग जेन ग्रुप’ में काम करते हैं।

 
हमें फेसबुक  पर ज्वॉइन करें. 

भारत -एक हिन्दू राष्ट्र

अंकिता सिंह

Web Title : Success Story Of Shama Kabani

Keyword : Success Story Of Shama Kabani,web marketing

Posted by on Dec 21 2013. Filed under आधी आबादी. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts