Donation (non-profit website maintenance)

Live Indian Tv Channels

91 फीसदी महिलाओं को पसंद हैं फीमेल कॉन्डम

Women likes to use female condoms during sex

Women likes to use female condoms during sex

 

एक रिसर्च की रिपोर्ट के मुताबिक अधिकत्तर महिलाएं सेक्स के दौरान फीमेल कंडोम के इस्तेमाल को ज्यादा पसंद करती हैं। सर्वे की माने तो फीमेल कंडोम की मार्केट में मांग बढ़ेगी। अब फीमेल कंडोम के कई मॉडल मार्केट में आ गए हैं, जो कि पुराने फीमेल कंडोम से ज्यादा प्रभावी साबित हो रहे हैं। नए फीमेल कंडोम महिलाओं को ज्यादा सुरक्षा देते हैं।
condom164311-11-2013-03-25-31D
फीमेल कंडोम की उपलब्धता के बावजूद महिलाएं इसका इस्तेमाल नहीं करती। इसके लिए रिसर्च का कहना है कि एक तो ये कंडोम मेल कंडोम की बजाए महंगे हैं और दूसरे महिलाएं इनके बारे में जागरूक नहीं है। फीमेल कंडोम के इस्तेमाल के लिए एक रिसर्च किया गया था। जिसके तहत करीब एक महिलाओं का समूह बनाया गया जिन्होंने बाकी महिलाओं को फीमेल कंडोम के बारे में साउथ अफ्रिका और चीन में जागरूक किया। अध्ययन में यह बात सामने आई कि साउथ अफ्रिका में रिसर्च से पहले ही करीब 14 फीसदी महिलाओं ने फीमेल कंडोम का इस्तेमाल किया है, जबकि चीन में पहले किसी महिला ने इसका इस्तेमाल नहीं किया। महिलाओं ने ग्रुप ने लोगों को बताया कि फीमेल कंडोम मेल कंडोम की बजाए इंफेक्शन और यौन संक्रमित रोगों से ज्यादा बचाव करते हैं।

अध्ययन के लिए रिसर्च ग्रुप ने महिलाओं से मार्केट में मौजूद फीमेल कंडोम, वीए वॉव कंडोम, कुपीड फीमेल कंडोम को पांच बार इस्तेमाल करने के लिए कहा गया। उसके बार कंडोम की असफलता के बारे में जांचा गया । इसमें कंडोम के फटने, लीक होना और कंडोम का योनी से बाहर निकलना जैसे çबिंदुओं पर फोकस किया गया। बाद में यह सामने निकलकर आया कि 100 बार में तीन बार फीमेल कंडोम फेल होते हैं, जबकि मेल कंडोम ज्यादा बार फेल होते हैं। साथ ही यह बात भी सामने निकलकर आई कि संवेदना, स्पर्श, रंग, रूप, सुगंध और उपस्नेहन को 91.2 फीसदी महिलाओं ने पसंद किया।

पहला फीमेल कंडोम 1993 में बनाया गया था, जिसे एफसी वन, फेमिडॉम और रिएलटी के नाम से जाना जाता था। condomeफिर 2007 में इसके दूसरे मॉडल एफसी टू को बनाया गया, जो कि एफसी वन से सस्ता, कम आवाज करने वाला और ज्यादा सॉफ्ट था। एफसी टू को यूएस प्रशासन ने 2009 में इस्तेमाल की अनुमति दे दी थी। अभी तीन तरह के फीमेल कंडोम मार्केट में उपलब्ध हैं। फीमेल कंडोम बनाने वाली कंपनियां इस अध्ययन को ध्यान में रखकर उनकी गुणवता सुधारने का काम करती है। अभी भारत, इंडोनेशिया, साउथ अफ्रिका और कई देश फीमेल कंडोम सस्ते दामों पर उपलब्ध करा रही हैं।

News Source : patrika.com

Posted by on Nov 11 2013. Filed under 18 +. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can skip to the end and leave a response. Pinging is currently not allowed.

Leave a Reply

*

Recent Posts